ब्राण्डेड कम्पनीया पनीर खाने वालों को जहर बेच रही हैं

एन.ए.बी.एल. लेबोरेट्री द्वारा यह प्रमाणित किया गया कि भारत के 8 बड़े ब्रॉण्डेड डिब्बा बन्द पनीर बेचने वाले कम्पनियों के पनीर में खतरनाक बैक्टीरिया पाये गये। हेल्थ कन्ज्यूमर वॉयस नामक एक स्वतंत्र संस्था ने भारत के 8 बड़े ब्रॉण्डेड कम्पनियों के सैम्पल को इकट्ठा किया जिसे एन.ए.बी.एल. जाँचने के बाद पाया कि इसमें स्वास्थ्य के लिए खतरनाक बैक्टीरिया ई-कोलाई और कॉलिफॉर्म बैक्टीरिया पाये गये हैं ऐसे पनीर को खाने पर इंफेक्शन, डायरिया, ब्लड इंफैक्शन, किडनी डैमेज जैसे घातक बीमारियां हो जाती है। जब आप होटल, रेस्तरा कहीं भी पनीर की बनी सब्जियों को चाव से खाते हैं या प्रोटीन के नाम पर अपने बच्चे को कच्चा पनीर खिलाते हैं तो आपकों नहीं पता होता है कि आप अपने हाथों ही उसे बीमार कर रहे हैं आश्चर्यजनक बात यह है कि यह खतरनाक बीमारी उन ब्रॉण्डेड पनीरों से हो रहा है जिस पर आप आँख बन्द करके विश्वास करते हैं। इन स्थितियों में पनीर और पनीर के उत्पाद का त्याग नहीं हो सकता है किन्तु बचाव हो सकता है- सावधान- कच्चा पनीर न खाये,जब भी पनीर खायें उच्च तापमान पर अच्छी तरह से पकाकर खायें,अच्छे तरीके से पनीर को फ्राई करके सब्जी बनायें अथवा उबालकर खायें जो आपके सेहत को सन्तुलित रखेगा।यह भी तथ्य उजागर हुआ कि जो बाजार में खुले रूप से मण्डियों की पनीर आती है वह ब्राण्डेड पनीरों को अपेक्षा उनमें न्यूनतम मात्रा में बैक्टीरिया होते हैं उसका प्रमुख कारण है वह उत्पादन के बाद सीधे उपभोक्ता को मिलता है जहां उसके खराब होने की संभावना कम से कम होती है।ब्रॉण्डेड पनीर के खराब होने का मुख्य कारण कूलिंग चैन है । कूलिंग चैन का आशय है पनीर को न्यूनतम 7-8 डिग्री सेल्सियस पर रखने की आवश्यकता होती है दरअसल होता है कि यह कूलिंग चैन जब कमजोर पड़ती है तो पनीर पर बैक्टीरिया धावा बोल देते हैं यह चैन खराब होता ही है क्योंकि – पनीर को कंपनी उत्पादन करती है– पनीर को डिस्ट्रीब्यूटर के पास भेजती है– पनीर होल सेलर के पास आता है–पनीर रिटेलर के पास आता है– रिटेलर से उपभोक्ता खरीदता है। इसमें कुल 7 से 8 दिन का समय लग जाता है फिर उपभोक्ता फ्रीज में 6-7 दिन रखता है। इसका सीधा अर्थ है आप ब्राण्डेड पनीर नहीं बल्कि जहर खा रहे हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
Facebook
Facebook
YouTube
INSTAGRAM